पंचकूला डीजीपी को धमकी, बाबा को 72 घंटे में ले जाएंगे जेल से छुड़ाकर

पंचकूला। गुरमीत राम रहीम 25 अगस्त को साध्वी यौन शोषण मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद से रोहतक की सुनारियां जेल में बंद है। लगभग 45 दिनों के बाद डीजीपी बीएस संधू को सोमवार को फोन पर धमकी दी गई है कि बाबा राम रहीम को 72 घंटे में सुनारिया जेल से छुड़ाकर ले जाएंगे

से बातचीत में डीजीपी संधू ने माना है कि बाबा को जेल से छुड़ाने का धमकी भरा फोन आया था। इसके बाद जांच में फोन की लोकेशन यूके की मिली है। वहीं, दूसरी तरफ दैनिक भास्कर के जर्नलिस्ट संजीव रामपाल को भी बाबा को लेकर लिखी जा रही खबरों के लिए धमकी दी गई है और रिपोर्टर से कहा गया है कि वह दीपावली नहीं देख पाएगा। इस मामले की शिकायत पंचकूला सेक्टर-5 थाने में की गई है। इस फोन की जांच की गई तो आरोपी की लोकेशन चंडीगढ़ के सेक्टर-11 की मिली है। पुलिस के मुताबिक, वह जल्द ही आरोपी को पकड़ लेंगे।

राम रहीम से जुड़े दो मामलों पर HC में हुई सुनवाई
डेरामुखी गुरमीत राम रहीम ने सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा सुनाई गई 20 साल की सजा को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में चुनौती दी है। वहीं, दूसरी तरफ दोनों पीड़ित साध्वियों ने डेरामुखी की सजा को उम्रकैद में तब्दील कराने के लिए हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। दोनों ही याचिकाओं पर सोमवार को जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस सुधीर मित्तल की बेंच सुनवाई करते हुए दोनों याचिकाओं को स्वीकार कर लिया है।
सोमवार को हाईकोर्ट ने रामरहीम की याचिका को स्वीकार करते हुए सीबीआई को भी इस पर अपना पक्ष रखने को कहा है। वहीं, साध्वियों की सजा बढ़ाने की अपील को स्वीकार करते हुए डेरा मुखी के वकील को अपना पक्ष रखने को कहा है।
सुनवाई के दौरान डेरामुखी की तरफ से सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा लगाए गए 30 लाख 20 हजार रुपए जुर्माने पर रोक लगाने की मांग की गई। इसे हाईकोर्ट ने नामंजूर करते हुए इसे 2 महीने में पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में राशि जमा कराने को कहा है। यह सारी जुर्माना राशि हाईकोर्ट ने सीबीआई कोर्ट के नाम पर एफटीआर (फिक्स्ड डिपाजिट) कराने के निर्देश दिए हैं।

loading…

Related posts

Leave a Comment

loading...